अरसा

अरसा

थम गया समयकहानियों की छाँव में,ज़िन्दगी जो तेज़ थी चल रहीकुछ रुक सी गयी।अल्फ़ाज़ कुछ अलग से इन होंठों को छूकर, फिर याद बन गएमेरी किताब के।कहता रहा मैं कि और थोड़ा देख ले,ज़माने की फ़रमाइशों के इस उमड़ते सैलाब को।एक अरसा सा लगता है तेरे साथ ए ज़िन्दगी,बैठकर फिर एक बारवह...
मैं यहीं हूँ माँ

मैं यहीं हूँ माँ

चिड़िया कहना ठीक था या माता का दर्जा जो दिया इसी कशमकश का शिकार यह देश जहर का प्याला जो पिया पूत सपूत सब एक समान रिश्तों में ना फर्क किया आँचल में सुलाया सबको अपने हिस्से का निवाला भी दिया कहते सुना है मैंने अकसर जान हैं ये हमारी जान के टुकड़े उठा रहा हूँ आज माफ करदे...
Martyrs Of Choice

Martyrs Of Choice

In the wake of his honor In the sake of his name A candle they lit And conveniently passed the blame Years of sacrifice Countless nights in the reprise Blood, sweat, and tears he shed And the silent cries Which no one heard But only his parents It still resonates with...
Shadows Of Memories

Shadows Of Memories

In the shadows of my past Dwelling with the memories Good or bad, I am not sure They keep me company Some days are reminiscent of the times I lived in the spirit Others, I just drag on Unsure of what lies ahead Fears of my destiny And hardships of choice Maybe it was...
ज़िन्दगी के रंग

ज़िन्दगी के रंग

ज़िन्दगी के हर दौर में कुछ पाया और कुछ खोया भी समय के हर रंग रूप को आज़माया और टटोला भी लुक्का छुप्पी भी बहुत खेली दिल लगाया और तोड़ा भी ज़रूरत को हर तरीके से निभाया और निचोड़ा भी कुछ तव्वज़ू दौलत को और कुछ हुनर को भी दिया काफिले की धूल से हर मौज़ का सदका किया दौलत की...
जिन्दा हूँ मैं

जिन्दा हूँ मैं

सवालों के जवाब और जवाबों में हिसाब ढूँढता ही रहा मैं देर लगी तो सहमें से पत्तों की तरह झूमता ही रहा मैं कुछ मन का किया कुछ कडवाहट इन रिश्तों में महसूस भी की है रास्ते की चमक और कुछ पाने की ललक विरासत में मिली है एहसान के आगोश में लिपटा हुआ एक अपाहिज सा परिंदा हूँ मैं...
You cannot copy content of this page